Friday, January 22, 2010

मित्रों को मुझसे शिकायत है!.................घुघूती बासूती

मेरे बहुत से मित्रों व पाठकों को एक शिकायत है और शिकायत बिल्कुल उचित भी है। समस्या यह है कि मैं शिकायत से सहमत हूँ, किन्तु उसके कारणों को समझने व दूर करने में असमर्थ हूँ। चाहती हूँ कि सुधी मित्र समस्या के समाधान में मेरी सहायता करें।

समस्या यह है कि बहुत दिनों से मेरे कई पाठक मेरे ब्लॉग को पढ़ने में असमर्थ हैं और यदि वे ब्लॉग खोलने की कोशिश करते हैं तो या तो उनका कम्प्यूटर हैंग हो जाता है या फिर पृष्ठ बहुत धीरे खुलता है, या पृष्ठ रिस्पॉन्ड नहीं करता। मैं स्वयं भी जब अपना ब्लॉग इन्टरनेट एक्सप्लोरर पर खोलती हूँ तो यही सब समस्याएँ सामने आती हैं। परन्तु जब मोज़िला फायरफॉक्स पर खोलती हूं तो कोई समस्या नहीं होती। मेरे लिए तो यह मोज़िला फायरफॉक्स पर खोलने का समाधान काम कर सकता है किन्तु मैं अपने पाठकों को तो मोज़िला फायरफॉक्स का ही उपयोग करने को बाध्य नहीं कर सकती।

यह सही है कि मोज़िला फायरफॉक्स इन्टरनेट एक्सप्लोरर से बहुत बेहतर है। जर्मनी में तो सरकार ने भी नागरिकों को इन्टरनेट एक्सप्लोरर का उपयोग न करने की सलाह दी है और वायरस के हमले भी इन्टरनेट एक्सप्लोरर पर ही अधिक होते हैं। बहुत से सर्वे भी यही बताते हैं कि मोज़िला फायरफॉक्स इन्टरनेट एक्सप्लोरर से अधिक सुविधाजनक है और अधिक लोगों की पसन्द है। किन्तु मैं अपने पाठकों को अपना ब्राउज़र बदलने की सलाह तो नहीं दे सकती। बहुत से पाठक जब दो तीन बार मेरे ब्लॉग पर आकर इस समस्या का सामना करते हैं तो फिर मेरे ब्लॉग पर आना ही छोड़ देते हैं। कुछ मित्रों ने टिप्पणी तो कुछ ने मेल करके मुझे इस समस्या के बारे में बताया है।

मैं जानना चाहती हूँ कि क्या यह समस्या केवल मेरी ही है या अन्य चिट्ठाकारों को भी इसका सामना करना पड़ रहा है।
अपने सभी कम्प्यूटर के जानकार साथियों से मेरा अनुरोध है कि कृपया मेरा ब्लॉग इन्टरनेट एक्सप्लोरर पर खोल कर देखें और फिर मेरी समस्या का कोई समाधान मुझे सुझाएँ।

आभार सहित,

घुघूती बासूती

36 comments:

  1. मोजिला फायरफाक्स में यह झक्कास है

    ReplyDelete
  2. हम तो एक्सप्लोरर का उपयोग करते ही नहीं इसलिए यह समस्या कभी आई ही नहीं. आपने कहा तो जाँचा. ब्राउजर हैंग हो जाता है. आपकी साइडबार की सामग्री तो जिम्मेदार नहीं? एक एक बन्द कर जाँच लें.

    ReplyDelete
  3. हाँ! एक्स्प्लोरर में दिक्कत होती है.... पर खुल जाता है.... गूगल क्रोम भी बहुत सही है....

    ReplyDelete
  4. www..इसका उपयोग करें। उदाहरन के लिए नीचे देखें
    '

    http://kulwant84.blogspot.com

    इस की बजाय वो
    http://www.kulwant84.blogspot.com

    खुल जाएगा।

    एक संवाद, जो बदल देगा जिन्दगी

    ReplyDelete
  5. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  6. कुलवंत जी, धन्यवाद। किन्तु आपके दिए हुए समाधान से समस्या नहीं सुलझी। आपका ब्लॉग दोनों urls से बराबर आराम से खुला। मेरा ब्लॉग नहीं खुला। सो समस्या कहीं और ही है।
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  7. मैंने भी अपनी यही प्रोब्लम आपको बताई थी आपके पिछले लेख में !

    ReplyDelete
  8. फ़ायरफ़ॉक्स, ऑपरा और सफ़ारी में झक्कास खुल रहा है, इंटरनेट एक्स्प्लोरर - 6 में नहीं. (हैंग हो जा रहा है).

    फ़ॉलोवर्स लिस्ट को नीचे से हटाकर साइडबार में लगाकर देखें.

    समाधान मिलने तक "सबसे ऊपर" यह लिखकर लगा दें - Best Viewed in Mozilla Firefox Browser.

    ReplyDelete
  9. ब्राउज़र बदलने में ही समझदारी है

    ReplyDelete
  10. ब्लॉगवाणी पसंद का विज़ेट हटाईए।
    पता नहीं आपने कहाँ लगाया हुआ है, मुझे दिख ही नहीं रहा :-(

    ब्लॉगवाणी का एक लोगो नीचे है ही,ऊपर की ओर -यदि 'पसन्द' है तो बताइए भी !- के अंतर्गत लगा हुआ लोगो हटा दीजिए

    नारद अब अस्तित्व में नहीं है उसका लोगो हटा दीजिए। हो सके तो hitstats या clustermaps से कोई एक विज़ेट हटा दें

    इत्तीईईईईईईईईईईईईईईईईईईइ लम्बी जो लिस्ट है लेब्लस की, उसे हटा दीजिए

    सब कुछ करने के बाद, यदि आप संतुष्ट हों तो ब्लॉगवाणी पसंद बटन, उचित स्थान से कोड लेकर लगा लीजिए

    ReplyDelete
  11. विजिटर लोकेशन वाला विजेट हटा कर देखिये..स्टेपस में सबसे पहले वो ही रोक रहा है.

    अगर न सुधरे तो हाल की प्रविष्टियाँ हटायें...लेखागार तो है ही, इसकी क्या जरुरत..

    बताईयेगा...फिर आगे देखते हैं.


    आई ई के अलावा सब जगह मस्त चल रहा है. क्रोम पर तो झक्कास!!!

    ReplyDelete
  12. मैं तो आराम से खोलता हूँ. गूगल क्रोम.

    ReplyDelete
  13. मैं गूगल क्रोम में पढ़ता हूं । हालांकि ये मेमरी बहुत खाता है । पर उसकी दिक्‍कत नहीं । पाब्‍ला जी की बात एकदम्‍मै सही है । आप अपने लेबल की लिस्‍ट को ड्रॉप-डाउन कर दीजिए । जैसा लेखागार का है । क्‍लाउड ने आपके ले-आउट को जैसे गिरफ्तार ही कर लिया है । अनावश्‍यक विजेट हटाने से काम बनता दिखेगा ।

    ReplyDelete
  14. पाबला जी ने बिल्कुल सही सलाह दी है!

    इंटरनेट एक्सप्लोरर के साथ समस्या यह है कि कई बार यह जावास्क्रिप्ट को पढ़ नहीं पाता जबकि हमारे ब्लोग्स में कई विजेट जावास्क्रिप्ट के ही होते हैं।

    यह भी हो सकता है कि आपके ब्लोग के टेम्प्लेट की कोडिंग को इंटरनेट एक्सप्लोरर न पढ़ पा रहा हो। टेम्पलेट बदल कर देखें, हो सकता है कि समस्या सुलझ जाये।

    ReplyDelete
  15. यह समस्या मुझे आप के ब्लाग के साथ नहीं आती लेकिन अनेक अन्य ब्लागों के साथ आती है। जिन में राज भाटिया जी का ब्लाग प्रमुख है।

    ReplyDelete
  16. ...पर गूगल क्रोम में यह बराबर खुल रहा है ! मित्रों नें इत्ती सारी सलाह दी है-ये हटाइए,वो हटाइए! अब एक ही बची है जो मैं दे नहीं सकता ! :)

    ReplyDelete
  17. समस्‍या अपनी प्रकृति में ही विजेट जनित लग रही है... ऊपर समाधान बताए गए हैं हमें समीरजी वाली लाइन ठीक लग रही है।

    ReplyDelete
  18. आपने सही कहा जी। मैं काफी देर से एक्स्प्लोरर पर ट्राई कर रहा था, लेकिन बार बार हैंग हो रहा था। अब फायरफोक्स पर आसानी से खुल गया। यह परेशानी शायद सबके साथ है। फायरफोक्स का इस्तेमाल बढ़िया है।

    ReplyDelete
  19. सफारी भी है और फ्लाक भी. जिसे जो अच्छा लगे उसे डाउनलोड कर ले और खोले.

    ReplyDelete
  20. हम तो गूगल क्रोम प्रयोग कार्ते हैं. हमे तो कोई समस्या नही आई. पर साईड के विजेट इंटरनेट एक्सप्लोरर मे शायद ठीक से पेज नही लोड होने देते.

    रामराम.

    ReplyDelete
  21. मेरे साथ भी यह समस्या आई थी"" पराया देश"" पर जब मेने टेम्पलेट बदला ओर कुछ विजेट हट दिये तो सब ठीक हो गया, आप पहले टेमपलेट बदले, बाकी ऒर सथियो की सलाह पर भी ध्यान दे

    ReplyDelete
  22. इन्टरनेट एक्सप्लोरर पर तो पेज नहीं खुल रहा और मोज़िला फायरफॉक्स पर तो सही है.

    ReplyDelete
  23. मुझे भी यह समस्या है। शब्दों का सफर इंटरनेट एक्सप्लोरर पर नहीं खुलता और बंद हो जाता है।

    ReplyDelete
  24. तकनीकी मामले में अपना काफ़िया थोड़ा तंग ही रहता है।

    ReplyDelete
  25. मैंने तो इन्टरनेट एक्स्प्लोरर का इस्तेमाल ही करना बन्द कर दिया है. गूगल क्रोम पर आपका ब्लॉग आराम से खुलता है. मुझे कभी कोई परेशानी नहीं हुई.

    ReplyDelete
  26. हाँ इंटरनेट एक्सप्लोरर की समस्या है. मुझसे भी नहीं खुला. मेरे ख्याल से अगर आप अपने ब्लॉग में ऐसा कर लें की फीड से पढ़ने वाले अगर आपका पूरा ब्लॉग वही से पढ़ लें, तो भी ये समस्या कम हो सकती है.

    जैसे एस लिंक में दिखाया गया है है, अपनी फीड फुल कर लें.

    http://www.google.com/support/blogger/bin/answer.py?hl=en&answer=42662

    ReplyDelete
  27. Even Mozilla Firefox is outdated now, chrome is new name in ultimate browsing experience.

    ReplyDelete
  28. इन्टरनेट एक्स्प्लोरर का इस्तमाल किये जमाना हो गया ...!!

    ReplyDelete
  29. क्‍या है क्‍या, विजिटों से कोई मोहब्‍बत है आपको? ऐसे थोक में दिवाली में बजाजी तक अपने दूकान की नाक में दम नहीं करता, लेकिन अपने ब्‍लॉग की आपने कर रखी है और ऊपर से बेचारे एक्‍सप्‍लोरर की कान उमेंठ रही हैं, क्‍यों? और ऊपर के जगर-मगर में उलझा किसी तरह आदमी अंतत: ब्‍लॉग खोल भी ले, तो नीचे फिर अनुसरणकर्ता संधान का फिर एक पसरा महाभारती मैदान है!
    और बुद्धि-बलिहारी कि आप फिर भी पूछ रही हैं कि मित्रो, हमारी शिकायत क्‍यों, अरे?
    एक आप हैं और दूसरे वह शब्‍द-सेटर वडनेरकर हैं, लगता है पढ़ने के सूभीते का ब्‍लॉग नहीं, विजिट-शिवाला, और पेज-लोडर का दिवाला है!
    ऊपर से चिड़ि‍या भी हटाइये, हद है, बेचारी छोटी, मासूम जान को ऐसे फैला रखा है मानो जुरासिक पार्क की मुख्‍य सितारा, वंपारा हो!

    ReplyDelete
  30. Pata nahin kyon mujhe to internet explorer ki hi adat padi hai aur wo suvidhajanak bhi lagta hai... balki mujhe kai baar mozilla se pareshani hui... aapka blog vaise to hamesha sahi tha aaj thoda sa pareshan kar raha hai...
    Jai Hind...
    aap ye dono chidiyon wali badi pic. hata ke dekhengee ek baar kya?

    ReplyDelete
  31. गूगल क्रोम मे तो कोइ परेशानी नही हुई.बिल्कुल तेज़ी से खुला

    ReplyDelete
  32. हमने इस बहाने ज्ञान प्राप्त कर लिया ।

    ReplyDelete
  33. यह समस्या मुझे आप के ब्लाग के साथ नहीं आती लेकिन अनेक अन्य ब्लागों के साथ आती है। जिन में महफूज़ जी @ लखनऊ का ब्लाग प्रमुख है।
    सो अब तक उनके ब्लॉग पर कभी टिपिया नहीं पाया !
    अभी फिर देखा तो अब भी यह समस्या आ रही महफूज भाई के ब्लॉग में !

    प्रमोद जी की सलाह का तरीका बहुत अच्छा है .....उसे जरूर प्रयोग में लाएं ! हेडर इमेज को थोडा छोटा ही रखें !

    अपनी फीड फुल कर लें....यदि कर सकें !!

    ReplyDelete
  34. han ji, apan aa gayele hain ab koi tension nai lene ka. jo bhi dikkat ho idhar de dene ka, pramod jee ne kahaa ki header se un pakkshhiyo ki pic ko hatane ka to nai, unhe rakha ja sakta hai bt picko edit kar k chhota kiya ja sakta hai header me. iske alava jo mujhe dikkat samajh me aa rahi hai vo hai aapke blog me , shhreni ki lambi fehrist, kabhi aaram se baat hogi to samjhaunga ye locha.

    vaise mai internet xplorer rare hi upyog karta hu.
    apan to firefox premi hain, yaha tak ki daftar ke apne systm me bhi firefox install karwa liya hai ;)

    ReplyDelete
  35. हाँ एकदम नहीं खुला एक्स्प्लोरर में ।
    समाधान तो आ ही गये हैं ।

    ReplyDelete
  36. हम तो गूगल क्रोम प्रयोग कार्ते हैं. हमे तो कोई समस्या नही आई.

    ReplyDelete